Theme :
Home
Granth
eBook
Saint
Leelaye
Temple
Yatra
Jap
Video
Shanka
Health
Pandit Ji

सेवा का ऐसा कौनसा कार्य है जो हर कोई कर सकता है?

इस बारे में आपका क्या दृष्टिकोण है?

  Views :620  Rating :5.0  Voted :2  Clarifications :14
submit to reddit  
2869 days 1 hrs 50 mins ago By Bhakti Rathore
 

radhe radhe bhgwaan ki bhakti

2888 days 49 mins ago By Waste Sam
 

radhey radhey, satsang dwara prapat gyan ke anusaar sabse aasaan sewa hai priye vachan bolna sab se, sabke liye acche vichar rakhna... waise toh har insaan apni shamta ke anusaar sharir aur dhan se sewa kar sakta hai..jai shri radhey

2912 days 2 hrs 30 mins ago By Gulshan Piplani
 

आत्मा हमारे शरीर कि मालिक है और बुद्धि सारथि और मन मात्र बिचोलिया है| तो मालिक के आदेश पर बुद्धि ही सर्व कार्य करने में सक्षम हुई तात्पर्य जब ह्रदय के साथ बुद्धि भी अध्यातम में लग गति है तभी सेवा का कार्य संपन्न होता है| हमें दूसरों कि सेवा में अपना जीवन व्यतीत करना चाहिए| यही भगवान् कि सेवा है| अतिथि सत्कार एक ऐसी सेवा है जो हर कोई कर सकता है

2968 days 54 mins ago By Ankit Agarwal
 
2970 days 8 hrs 2 mins ago By Indu Gupta
 

mata-pita guru aurjaruratmand ki sewa yathhasambhav karni hi chaahiye.radhe....radhe...

2970 days 8 hrs 8 mins ago By Indu Gupta
 

tan man ya dhan sekisi ko bhi kasht na pahuchate hue propkaari karya karna vo sewa hai jo sab koi kar sakta hai radhe radhe...

2972 days 2 hrs 36 mins ago By Ravi Kant Sharma
 

जय श्री कृष्णा.... मानसिक सेवा ही सर्वोत्तम सेवा होती है, मानसिक सेवा बुद्दि से नहीं होती है बल्कि मन से होती है। मन ही सभी इन्द्रियों का स्वामी होता है, सभी इन्द्रियाँ मन के आदेश पर ही कार्य कर्ती हैं।.... जब तक मन का आदेश नहीं होता है तब तक शारिरिक सेवा नहीं हो सकती है।.... जब तक मन का आदेश न हो तो धन की सेवा भी नहीं हो सकती है।

2974 days 9 hrs 2 mins ago By Nidhi Nema
 

राधे राधे,सेवा बहुत से प्रकार की होती है,वैसे तीन प्रकार मुख्य बताये गए है शरीरिक मानसिक और आर्थिक व्यक्ति तीनो प्रकार में से एक न एक अवश्य ही कर सकता है,यदि पास में धन नहीं है तो शारीरक और मानसिक कर सकता है,यदि शारीरिक क्षमता नहीं तो आर्थिक और मानसिक कर सकता है यदि धन और बल दोनों नहीं तो केवल मानसिक तो कर ही सकता है.

2974 days 9 hrs 12 mins ago By Shivangi Mohan
 

har kary bhagwan ka he isi bhav se karna hi seva he ....चाकर रहसु बाग लगासू नित उठ दर्शन पासू अरे वृन्दावन री कुञ्ज गलिन में गोविन्द रो गुण गासू .......हे राधे मेरी चाहत नित ही महल खवासी

2974 days 9 hrs 34 mins ago By Vipul Nema
 

............................................................. yahi sewa haikarke bhul jao.

2974 days 11 hrs 7 mins ago By Aditya Bansal
 

radhey radhey shaym shyam

2974 days 11 hrs 8 mins ago By Aditya Bansal
 

seva mein daan daya prabhu ki bhakti help sahara bhuke ko aann pyaase ko pani jai baba amarnath barfani............

2974 days 11 hrs 28 mins ago By Gaurav Raj Bansal
 

prabhu ki mansik seva koi v kar sakta he.

2974 days 12 hrs 28 mins ago By Manish Nema
 

कोई भी कार्य सेवा का कार्य हो सकता है| दुनिया आप से ऐसे काम की आशा नहीं करेगी जो आप से न हो सके| आप जो भी कर सकते हैं और बदले में बिना किसी अपेक्षा के जो आप करते हैं वही सेवा है| कोई भी कार्य दो तरह से हो सकता है| पहला, हम इसलिए करें कि हमें काम पूर्ण होने के बाद खुशी की अपेक्षा है| दूसरा, हम आनंद के साथ कार्य पूर्ण करते है| नौकरी और सेवा में यही फ़र्क है|

 
Tags :
Radha Blessings



Click here to know more about Radha Blessings
Popular Article
Latest Video
Popular Opinion
Latest Bhav
Spiritual Directory


Today Top Devotee [0]

Today Opinion Topic

हम अधिक अनुशासित कैसे बने?

Radhakripa on Mobile

This Month Festivals

Guru/Gyani/Artist
Online Temple
Radha Temple
   Total #Visiters :1382
Baanke Bihari
   Total #Visiters :307
Mahakaal Temple
   Total #Visiters :
Laxmi Temple
   Total #Visiters :248
Goverdhan Parikrima
   Total #Visiters :359
Animated Leelaye
Maharaas Leela
   Total #Visiters :426
Kaliya Daman Leela
   Total #Visiters :
Goverdhan Leela
   Total #Visiters :
Utsav
Radha Ashtami
   Total #Visiters :
Krishna Janmashtami
   Total #Visiters :
Diwali Utsav
   Total #Visiters :248
Braj Holi Utsav
   Total #Visiters :
eBook Collection
सभी किताबे
राधा संग्रह
ग्रन्थ
कृष्ण संग्रह
व्रज संग्रह
व्रत कथाएँ
यात्रा
Copyright © radhakripa.com, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here but you need to include radhakripa logo and provide back link to http://radhakripa.com